सोमवार, 24 दिसंबर 2018

अनजान लड़की बस 2 मिनट में कैसे पटाये :Anjaan ladki ko kaise pataye

अनजान लड़की बस 2 मिनट में कैसे पटाये :Anjaan ladki ko kaise pataye

दोस्तों , आज हम लोग इस बात पर चर्चा करंगे कि किसी अनजान लड़की को कैसे पटाये। इस बात को मै यही क्लियर कर दे रहा हूँ कि अगर आप लड़कियों को पटाना चाहते हो तो " शिकारी बनो ,भिखारी नहीं " दोस्तों यकीन मानो यदि आप इस लाइन को अपने दिमाग में अच्छे से स्टोर कर लेते है , तो सबसे पहले आपको अपने अंदर ही बदलाव नजर आएंगे | खैर अब इस बात को यही छोड़िये  और आइये ये जानते है कि किसी अनजान लड़की को कैसे पटाये :-


1 . शिकारी बनो ,भिखारी नहीं :
जहां तक मैंने देखा कि जब कोई लड़का किसी लड़की से पहली मुलाकात में बात करने जाता है , तो वह सबसे पहले यही कहता है , कि { Excuse me  एक्सक्यूज़ मी } क्या मै आपसे दो मिनट बात कर सकता हूँ , लड़की सोचेगी ये मुझसे 2 मिनट बात क्यों करना चाहता है , उसके दिमाग में 1000 सवाल खड़े हो जाएँगे | और लड़की आपके कुछ कहने से पहले ही ये कह देगी , सॉरी मुझे आपसे कोई बात नहीं करनी | ये रही भिखारी मजनू की कहानी |

अब एक शिकारी लड़की से कैसे बाते करता है उसको देखते है :

जैसे किसी शॉपपिंग मॉल में लिफ्ट से एक शिकारी ऊपर जा रहा , तभी लिफ्ट बीच में रुकती है , और बाहर से दो लड़किया अंदर लिफ्ट में आके खड़ी हो जाती है , शिकारी बिना समय गवाए कहता , " आपने बहुत ही अच्छी क्वालिटी का परफ्यूम लगाया हुआ है , " जैसे ही लड़की ने स्माइल किया कि उसने  दोबारा से पूछ लिया कौन से ब्रांड की परफ्यूम लगाती हो , "मुझे भी किसी को देना था | कुछ इसी तरह से वह अपनी कहानी शुरू कर देता |


2 . सूघने की शक्ति :

आपको बता दे , बिना दिखाई देने वाला एंटीना भगवान् ने लड़कियों को दिया है , आप उनके बारे क्या सोच रहे है , ये उनको पता लग जाता है , इसलिए जब किसी लड़की से पहली बार मिलो , तो सिर्फ इतना सोचो की बस वह मेरे hii -hello कर ले बहुत है , और अगर उनका मिल जाए , तो भगवान् का प्रसाद समझ कर रख लो |


3 . पॉजिटिव ऐटिटूड :






एक शिकारी पूरी तरह से पॉजिटिव ऐटिटूड से भरा होता है , पॉजिटिव ऐटिटूड का मतलब जब एक शिकारी किसी लड़की को देखता है , तो मानो किसी ने दुनिया भर की शक्ति उसके शरीर में डाल दी हो , जो शायद लड़की से मिलने से पहले उठने और बैठने के लिए तरस रहा था | ये हमेशा अपनी बातो की शुरुवात के मजाक के साथ ही करते है |


4 . कपडे :


अरे भाई पुराने जमाने में जो लोग जंगलो  थे , वह लोग क्या बाटा के जूते पहनते थे , नहीं , फिर भी उनके पास 10 -10 औरते रहती थी , आपके कपडे अच्छे है या नहीं , ये बात मायने नहीं रखती है , बात ये मायने रखती है , कि वह कपडे साफ है या नहीं | साफ सुथरे रहो |

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें